Inkaar Shayari




जी 😝 भर गया है तो बता दो 👵 हमें इनकार पसंद है 👶 इंतजार नहीं…!


ना जाने कैसे 😝 इम्तेहान है अपने ये आजकल। 🙍 मुक़दर, मोहब्बत और दोस्त 👸 तीनो नाराज़ से रहते है।


इन्कार 🎅 किया जिन्होंने मेरा समय देखकर 👮 वादा है मेरा, ऐसा 😯 समय भी लाऊंगा कि मिलना 👴 पड़ेगा मुझसे समय लेकर..


Inkaar 👵 Ki Si Lazat, Iqrar Main Kahan Hai. 👶 Barhta Hai Ishq 🤐 Mohsin Un 🤵 Ki Nahin Nahin Se


किस्मत 🙍 पर एतबार किसको है मिल जाए खुशी 👸 इनकार किसको है कुछ मजबूरियाँ होती है 💂 यार जिन्दगी में वर्ना जुदाई से 👧 प्यार किसको


Main 🙍 uska hoon vo is ahsaas se inkar 😝 karta hai, Bhari mahfil me bhi 👸 ruswa mujhe har baar karta hai, 💂 Yakin hai sari duniya ko khafa 😝 hai humse vo lekin, 🤐 Mujhe maloom 👰 hai phir bhi mujhise 👰 pyar karta hai.


जो इंसान 🙍 आपसे ज्यादा प्यार करेगा, वो आपसे 😝 रोज़ लड़ेगा, लेकिन जब आपका १ आँसू गिरेगा, 👸 तो उसे रोकने के लिए वो पूरी 😯 दुनिया से लड़ेगा…!


Wo 👮 inkaar karte hain ikraar ke liye, 🎅 Nafrat bhi karte hain 👧 to pyar ke liye,👴 Ulti chaal chalte hain ye ishq karne 😯 wale, Ankhein band karte 😯 hain deedar ke liye.


हँसी आप 👵 को कोई चुरा ना पाए, आप को अभी कोई 👶 रुला ना पाए, खुशियों का दीप ऐसे जले आपकी 😯 ज़िन्दगी में, की कोई तूफान 👼 भी उसे बुझा ना पाए.


मोहब्बत 👸 की मशाल से इनकार इज़हार मे 💂 बदल गए वो भी निखर निखर गया हम 🙍 भी निखर निखर गए


लगता नहीं है 🙍 दिल मेरा उजड़े दयार में किसकी बनी है 😝 आलम-ए-ना पैदार में कह दो इन हसरतों 👸 से कहीं और जा बसें इतनी जगह 😯 कहाँ है दिल-ए-दागदार में


Kabhi 🎅 kisise pyaar mat karna, Ho 👮 gaya to inkaar 😯 mat karna, Nibha 👴 sake to chalna uski raah 👧 par, Varna kisiki zindagi 😯 barbaad mat karna!!


कहना 😝 बहुत कुछ है, अलफाज भी जरा 👸 से कम है, खामोश सी तुम हो, 🙍 गुमसुम से हम है.


ख्वाब बन 🎅 के आपकी आँखों में समाना है, दवा बन के 💂 आपका हर दर्द मिटाना है, कबूल हे मुझे 👮 ज़माने भर कि नफरत, पर आपका 👴 प्यार बन कर 😝 आपको पाना है..!


तेरी तलाश 👶 में निकलू भी तो क्या फायदा? 👵 तुम बदल गए हो. खो 👧 गए होते तो और बात थी..!!!


खुशियाँ 💂 मिलती नहीं मांगने से, 👧 मंजिल मिलती नहीं राह 🎅 पर रुक जाने से, 😯 भरोसा रखना खुद पर 👮 और उस रब पर, सब कुछ 👴 देता है वो सही वक्त आने पर


छोड़ 👾 दिया है हमने..तेरे ख्यालों में जीना,, 🏋️‍♂️ अब हम लोगों से नहीं..लोग 🚴 हमसे इश्क करते हैं !!


ज़िन्दगी 💂 अधूरी लगती है बिन तेरे, 😯 कुछ कमी सी है रूह 🎅 में बिन तेरे, आ जाओ अब 👮 ज़िन्दगी में मेरे, कहीं राहे 👴 छुट ना जाए बिन तेरे.


एक 👵 पल में ज़िन्दगी 🤐 भरकी उदासी दे गया वो 👧 जुदा होते हुए कुछ फूल बासी दे गया नोच 👶 कर शाखों के तन से खुश्क पत्तों का 😯 लिबास ज़र्द मौसम बाँझ रुत को 👼 बे-लिबासी दे गया।


Uske 👶 ankhonke khumarse dar lagta hai,👵 Apne dil-e-bekararse dar lagta hai,👼 Baat tumse to hum kabki kar lete, 🤰 Par aapke inkarse dar 👰 lagta hai.