Intezaar Shayari




हर दिन, 👻 रात होने का इंतज़ार करता हूँ, 😏 हर रात तेरे साथ होने का 🙄 इंतज़ार करता हूँ।


तेरे 👻 इंतजार मे कब से उदास बैठे है तेरे 😏 दीदार में आँखे बिछाये बैठे है तू एक नज़र 🙄 हम को देख ले इस आस मे 😶 कब से बेकरार बैठे है.


बहुत 😏 से लोग थे मेहमान मेरे घर लेकिन, 👻 वो जानता था कि है एहतमाम 🙄 किसके लिए।


Har 👻 aahat pe intezaar hota tera hai,😗 Har ghadi tadapta dil mera hai 😶 Tum gaye aise ki lout ke 😏 na aye Or tere lout 🙄 aane ki umeed liye 😳 betha dil mera hai.


प्यार बहुत है 👽 तुमसे मगर इजहार नहीं करते मेरी ख़ामोशी 👹 से ये ना समझना की तुमसे प्यार नहीं करते मेरी 😗 आँखे तो हर लम्हा तुम्हारी राह देखती है 😣 और तुम कहती हो 😶 हम इंतजार नहीं करते.


उसके 😶 इंतजार के मारे है हम.. 😳 बस उसकी यादों के सहारे है हम…👻 दुनियाँ जीत के कहना क्या है अब 😏 जिसे दुनियाँ से जीतना था 🙄 आज उसी से हारे है हम..


हमने 👹 ये शाम चराग़ों से सजा रक्खी है;​​ ​😗 आपके इंतजार में पलके बिछा रखी हैं; 👽 ​हवा टकरा रही है शमा से बार-बार;​​ ​ 😣 और हमने शर्त इन हवाओं से 😶 लगा रक्खी है।


ना पूछ 💀 मेरे सब्र की इंतेहा कहाँ तक हैं, तू सितम कर ले, 🙄 तेरी हसरत जहाँ तक हैं, वफ़ा की उम्मीद, 😡 जिन्हें होगी उन्हें होगी, हमें तो देखना है, 😵 तू बेवफ़ा कहाँ तक हैं.....


इंतज़ार 👽 रहता है हर शाम तेरा, 😣 यादें कटती हैं ले ले कर 👹 नाम तेरा, मुद्दत से बैठे हैं 😱 यह आस पाले, कि कभी तो 😗 आएगा कोई पैगाम तेरा।


वफ़ा में 👽 अब ये हुनर इख़्तियार करना है वो सच कहे 👹 ना कहे ऐतबार करना है ये तुझको जागते 😣 रहने का शौक कब से हुआ मुझे तो खैर 😗 तेरा इंतजार करना है


रूठी हुई 👹 आँखों में इंतजार होता है ना चाहते हुए भी 👽 प्यार होता है क्यों देखते है हम वो 😗 सपने जिनके टूटने पर भी उनके 😣 सच होने का इंतजार होता है


उसके 😳 इंतजार के मारे है हम बस उसकी यादों के 💀 सहारे है हम दुनिया जीत कर क्या करना है 😡 अब जिसे दुनिया से जीता था 😵 आज उसी से हारे है हम


एक 👻 अजनबी से मुझे इतना प्यार क्यों है; 😗 इंकार करने पर चाहत का इकरार क्यों है; 😶 उसे पाना नहीं मेरी तकदीर में शायद 😏 फिर हर मोड़ पे उसी का 😴 इंतज़ार क्यों है!


आँखें 💀 भी मेरी पलकों से सवाल करती हैं, 😡 हर वक़्त आपको ही बस याद करती हैं, जब 😵 तक ना कर लें दीदार आपका, तब 😱 तक वो आपका इंतज़ार करती हैं।


कोई है 👽 जिसका इस दिल 😳 को इंतजार है ख्यालों में 👹 अब तो बस उसीका ख्याल है खुशियां मैं इस जहाँ 😵 की सारी उस पर लूटा दू कब आएगा 😋 वो जिसका इस दिल को इंतजार है


कभी 💀 टूटा नहीं दिल से तेरी याद का 😣 रिश्ता, गुफ्तगू हो 😱 न हो ख्याल 😡 तेरा ही रहता है।


हर सुबह 😡 हर शाम तेरा इंतज़ार किया करते हैं 😵 हर एक ख्वाब मैं तेरा दीदार 😱 किया करते हैं ख्वाहिश 😋 तो बहुत हैं जीने की तू जीना सीखा दे ये ख्वाहिश पूरी होगी इसी 💀 आस मैं जिया करते हैं


कभी किसी 👹 का जो होता था इंतजार 😣 हमें बड़ा ही शाम -ओ -शहर का 👽 हिसाब रखते थे .


मेरे 💀 दिल की उम्मीदों का हौसला तो देखो, 😡 इंतज़ार उसका है जिसे मेरा 😵 एहसास तक नहीं।


मेरी सारी 😋 कहानी का आगाज़ तुझसे है 😡 हर बात पुरानी का तालुकात 😱 तुझसे है.. मैं हर जगह तेरी 😣 वजह बेखोफ़ रहता हूँ मेरा 😋 कल भी तुझसे था मेरा 💀 आज तुझसे है..


Badi 💀 Ajeeb Kashmakash Hai Unke Intezaar Mein 😣 Aankhein Khuli Rakhun Ya Band 😡 Kar Lun Khwabon 😋 Mein Milne Ke Liye!


ए पलक 👻 तु बन्‍द हो जा, ख्‍बाबों में उसकी सूरत 😋 तो नजर आयेगी इन्‍तजार तो सुबह 😋 दुबारा शुरू होगी कम से कम 😎 रात तो खुशी से कट जायेगी ”


Ab To 👽 Uth Sakta Nahin Aankhon Se 👹 Baar-E-Intazaar Kis 😱 Tarah Kaate Koi 😵 Lail-O-Nahaar-E-Intazaar.


Main 👽 phool chunti rahi aur khabar na 👹 huyi, Woh shakss aa ke mere sheher 😡 se chala bhi geya..


पलकों 👹 पे रुक गया है समंदर 😳 खुमार का कितना अजब नशा है 👽 तेरे इंतजार का


इतना 😣 ऐतबार तो अपनी धड़कनो 😳 पर भी हमने ना किया जितना 💀 आपकी बातो पर करते है 😳 इतना इंतजार तो अपनी 😡 साँसों का भी ना किया जितना 😵 आपके मिलने का करते है


उसने 😋 कहा अब किसका इंतज़ार है; मैंने कहा 👻 अब मोहब्बत बाकी है; उसने 😍 कहा तू तो कब का गुजर चूका है ‘मसरूर’ 😋s मैंने कहा अब भी मेरा हौसला बाकी है!


ज़ख्म 😥 इतने गहरे हैं इज़हार क्या करें; हम खुद 😋 निशान बन गए वार क्या करें; 😍 मर गए हम मगर खुलो रही आँखें; 😎 अब इससे ज्यादा 👻 इंतज़ार क्या करें!


Ab 👹 takk to khair teri 😳 tamanna main katt gayi 👽 Tu mil geya to sochta hoon kya 😎 karoon ga main..


Pal bhar 😍 ka pyaar aur 😱 barson ka intezaar, 😣 jaise koi apna hi apne 😎 ghar ko loot raha hai.


Muddat 😥 Se Jaagi ☺️ Aankhon Ko Ek Bar 🤡 Sulane Aa Jao, 😱 Mana Ke Tum Ko 😍 Pyaar Nahin Nafrat 👻 Hi Jatane Aa Jao


Waqt 😣 kehta hai phir na aaunga.. 💀 Aap ki aankhon ko na ab rulaunga 😎 Jeena hai to iss pal ko jee lo 😡 Shayad main kal tak 😵 na ruk paunga..!!!


Sukhe 😳 Patte Se Pyar Kar Lenge, Tumhara 👹 Aitbaar Kar Lenge, Tum Ye To Kaho Ki 😳 Hum Tumhare Hai , Hum Jindagi Bhar 😱 Intezaar Kar Lenge.


Diya 😣 Khamosh Hai Lekin Kisi Ka Dil 😍 To Jalta Hai, Chale Aao Jahan Tak Roshni Maloom Hoti Hai!