ATS Full Form in Hindi




ATS Full Form in Hindi - एटीएस क्या होता है?

ATS Full Form in Hindi, ATS की फुल फॉर्म क्या होती है, एटीएस की फुल फॉर्म क्या है, ATS का पूरा नाम क्या है, Full Form of ATS in Hindi, एटीएस क्या है, ATS किसे कहते है, एटीएस कमांडो कैसे बने, ATS का पूरा नाम और हिंदी में क्या अर्थ होता है, दोस्तों क्या आपको पता है ATS की Full Form क्या है, अगर आपका answer नहीं है तो आपको उदास होने की कोई जरुरत नहीं क्योंकि आज हम इस article के माध्यम से ये जानेंगे की ATS क्या होता है? और इसकी Full Form क्या होती है? चलिए ATS के बारे में सभी प्रकार की सामान्य information आसान भाषा में इस article की मदद से प्राप्त करते हैं।

ATS की full form "Anti-Terrorism Squad" होती है, एटीएस का हिंदी में मतलब "आतंकवाद विरोधी दस्ते" होता है. ATS भारतीय पुलिस अधिकारियों का एक दल है. आज के समय में ATS की भारत के हर राज्य में शाखाएँ मौजूद हैं. एटीएस का कार्य भारत देश के किसी भी हिस्से में काम करने वाले राष्ट्र-विरोधी elements के बारे में जानकारी प्राप्त करना है. केंद्रीय सूचना agencies जैसे आईबी, रॉ और उनके साथ सूचनाओं का आदान-प्रदान करना, और अन्य राज्यों की समान agencies के साथ समन्वय करना, माफिया और अन्य संगठित अपराध सिंडिकेट की गतिविधियों को ट्रैक करके उनको खत्म करना, नकली नोटों के रैकेट का पता लगाने और नशीले पदार्थों की तस्करी आदि का पता लगाने का काम भी वर्तमान सयम में ATS करता है।

एटीएस का उद्देश्य आतंकवाद को भारत देश से खत्म करना है, यह एक विशेष police force है. जो आतंकवादी हमलों और गतिविधियों का मुकाबला करने में सक्ष्म है, एटीएस भारत के कई राज्यों में काम करता है, एटीएस आईबी और रॉ जैसी केंद्र सरकार की खुफिया एजेंसियों के साथ मिल कर काम करता है, एटीएस ने भारत देश में कई आतंकवादी हमलों को नाकाम किया है।

एटीएस की स्थापना कब की गई थी ?

एटीएस की स्थापना सन 1990 में महाराष्ट्र, के मुंबई सिटी में की गई थी, इसकी स्थापना मुंबई पुलिस के अतिरिक्त आयुक्त, आफताब अहमद खान (A।A। खान) द्वारा की गई थी, आधुनिक समय के आतंकवाद को नियंत्रित करने और उससे लड़ने के लिए अमेरिका में एक विशेष police force की स्थापना. उससे प्रेरित हो कर Ahmed Khan ने एटीएस की नीव राखी।

एटीएस की प्रमुख जिम्मेदारियां ?

  • देश विरोधी तत्वों के बारे में जानकारी एकत्र करने का काम एटीएस करता है।

  • RAW और IB जैसी खुफिया एजेंसियों के साथ सूचना का coordinate और आदान-प्रदान करना का काम भी एटीएस करता है।

  • आतंकवादियों, माफिया और अन्य संगठित अपराध सिंडिकेट की गतिविधियों और योजनाओं को ट्रैक करने और उन्हें खत्म करने का काम भी एटीएस के द्वारा किया जाता है।

  • नकली नोटों और मादक पदार्थों के रैकेट का पता लगाने और उनका पर्दाफाश करने का काम भी एटीएस करता है।

एटीएस join कैसे करे ?

एटीएस join करने के लिए 3 एग्जाम पार करने होते हैं, जो इस प्रकार है −

  • इसमें फिजीकल कैपेसिटी, मेंटल एबिलिटी और टेक्निकल और जनरल नॉलेज टेस्ट किया जाता है।

  • शुरुआती एग्जाम्स पास करने वाले जवानों को एटीएस के ट्रेनिंग सेंटर्स में शुरूआती ट्रेनिंग के लिए भेजा जाता है. ये ट्रेनिंग अलग अलग सेंटर्स पर होती है।

  • सेंटर्स बदलते रहते हैं और कमांडो रोटेशन के तहत ट्रेनिंग लेते हैं।