NOTA Full Form in Hindi




NOTA Full Form in Hindi - नोटा की पूरी जानकारी हिंदी में

NOTA Full Form in Hindi, NOTA की full form क्या है, NOTA क्या है, NOTA vote meaning in election, NOTA का फुल फॉर्म क्या होता है, NOTA Full Form, NOTA rules, History of NOTA in Hindi, Vote for NOTA का क्या मतलब होता है हिंदी में, नोटा क्या होता है, नोटा की फुल फॉर्म इन हिंदी, NOTA क्या होता है, दोस्तों क्या आपको पता है NOTA की full form क्या है, NOTA का क्या मतलब होता है, NOTA Hota Kya Hai, अगर आपका answer नहीं है तो आपको उदास होने की कोई जरुरत नहीं है क्योंकि आज हम इस post में आपको NOTA की पूरी जानकारी हिंदी भाषा में देने जा रहे है तो फ्रेंड्स NOTA Full Form in Hindi में और NOTA की पूरी history जानने के लिए इस post को लास्ट तक पढ़े।

NOTA की फुल फॉर्म “None of the Above” होती है, नोटा का हिंदी में मतलब “इनमें से कोई भी नहीं” होता है. NOTA भारतीय मतदाताओं को election के समय दिए जाने वाला एक मतदान-पत्र है. NOTA के माध्यम से, एक नागरिक को चुनाव लड़ने वाले किसी भी उम्मीदवार को Vote नहीं देने का अधिकार है।

नोटा का उपयोग कब से शुरू हुआ आइये जानते है, कुछ साल पहले मतदाताओं को अगर election में खड़े उम्मीदवारों में से कोई भी उम्मीदवार इस काबिल नहीं लगता था जिसे वो अपना Vote दे सके ऐसी स्थिति मतदाता vote करने के लिए नहीं जाया करते थे. दोस्तों ऐसे परिस्थिति में वो अपने मतदान का उपयोग करने से वंचित रह जाते थे. लेकिन कुछ समय पहले इस बात पर विचार किया गया और फिर चुनाव आयोग द्वारा ये निर्णय लिया गया की ऐसे मतदाताओं के लिए नोटा का विकल्प होना चाहिए. और उसके बाद हमारे देश के नागरिकों को मतदान करते समय ‘नोटा’ का विकल्प दिया जाने लगा है. जिससे की मतदाता vote करने से वंचित ना रहे. आज के समय में इस विकल्प का इस्तेमाल voting के दौरान बहुत से लोगों द्वारा किया भी जा रहा है।

नोटा शब्द चुनाव से सम्बंधित है और इसका उपयोग कोई भी नागरिक अपना vote डालते समय कर सकता है. अगर किसी भी मतदाता को अपना vote करते समय ऐसा लगता है कि उसकी constituency से खड़े हुए किसी भी पार्टी का उम्मीदवार, इस काबिल नहीं है जिस को वो अपना vote दे सके तो ऐसी परिस्थिति में मतदाता इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन या फिर ईवीएम में दिए गए nota बटन को दबा कर अपना vote किसी भी उम्मीदवार को ना देने का एक विकल्प चुन सकता है. जैसा की आप जानते है मतदाता के द्वारा डाला गए ऐसे vote की गिनती Vote नोटा में होती है.

चुनाव आयोग की अधिसूचना क्या थी?

भारत चुनाव आयोग ने जनवरी 2014 में एक परि पत्र जारी करते हुए कहा कि NOTA के प्रावधानों को rajya sabha elections में भी शामिल किया जाना चाहिए क्योंकि यह प्रावधान 2013 में EVM में उपलब्ध कराया गया था।

नोटा का चिह्न

नोटा के चिह्न बारे में आइये जानते है, नोटा का चिह्न EVM पर बना होता है और इस चिह्न में एक मतपत्र है. और उस पर एक cross का निशान बनाया गया है. इस चिह्न का चुनाव सन 18 सितंबर 2015 में चुनाव आयोग ने किया था. इस चिह्न को गुजरात के राष्ट्रीय design institute, द्वारा design किया गया था।

नोटा का इतिहास - History

NOTA का सबसे पहले उपयोग संयुक्त राज्य America में किया गया था. और सबसे पहले सन 1976 में इस देश के नेवादा राज्य में हुए election में वहां के लोगों को NOTA का विकल्प दिया गया था. उसके बाद अन्य देशों ने भी इस विकल्प का उपयोग धीरे-धीरे अपने देश के मतदाताओं को लिए शुरू कर दिया.