MMS Full Form in Hindi




MMS Full Form in Hindi - एम. एम. एस. होता है?

MMS Full Form in Hindi, MMS की Full Form क्या हैं, एम. एम. एस. की फुल फॉर्म क्या है, Full Form of MMS in Hindi, MMS Form in Hindi, MMS का क्या use है, MMS के Advantage क्या होते है, दोस्तों क्या आपको पता है MMS की Full Form क्या है, और MMS का क्या use है, अगर आपका answer नहीं है तो आपको उदास होने की कोई जरुरत नहीं क्यूंकि आज हम इस article के माध्यम से ये जानेंगे की MMS का क्या होता है? और इसकी Full Form क्या होती है? चलिए MMS के बारे में सभी प्रकार की सामान्य information आसान भाषा में इस article की मदद से प्राप्त करते हैं।

MMS की full form "Multimedia Messaging Service" होती है, MMS का हिंदी meaning “मल्टीमीडिया संदेश सेवा” होता है, MMS एक messaging service होती है, दोस्तों आइये अब हम इसके बारे में कुछ अन्य जानकारी प्राप्त करते हैं।

MMS एक multimedia message send करने और message प्राप्त करने के लिए एक standard way प्रदान करता है, इन multimedia messages में images, ग्राफिक्स, audio files, वीडियो क्लिप, rich text आदि शामिल हो सकती हैं. MMS का उपयोग केवल उन उपकरणों में ही किया जाता है जो इस service का support करते हैं ! दोस्तों ये सब डिवाइस मोबाइल फोन, स्मार्ट फोन, personal computer, tablet, handheld device आदि हो सकते हैं ! जैसा की आप जानते है आज के समय में MMS का उपयोग GPRS में 3G और 4G नेटवर्क पर किया जा सकता है.

MMS, SMS का ही एक upgrade version है इसका काम आपके फ़ोन के जरिये Text, Video, Graphics, Photos, Audio इत्यादी फाइल्स को एक MMS के जरिये send करना है MMS, को SMS Messaging तकनीक का use करके बनाया गया है, MMS को 1984 में develop किया गया था, MMS तकनीक का इस्तेमाल आप किसी device में नही कर सकते है. इस तकनीक का use उसी device में किया जा सकता है जो इसे Support करता हो, आज के समय में दुनियाभर में MMS उपयोग किया जाता है।

MMS के Advantage

MMS को एक Instent Massaging तकनीक के रूप जाना जाता है।

MMS का use करके आप किसी को भी बड़ी आसानी के साथ Multimedia Files send कर सकते है।

What is MMS in Hindi

MMS एक Messaging Service होती है, आपकी जानकरी के लिए बता दे की यह SMS का Update Version है. जिसकी Help से हम किसी दुसरे के Phone पर Text के साथ- साथ Images, Graphics, Audio Files, Video Clips, Rich Text आदि भी भेज सकते है. मल्टीमीडिया मैसेजिंग सर्विस (MMS) मोबाइल वायरलेस उपकरणों के लिए लघु संदेश सेवा (MMS) का एक उन्नत संस्करण है, यह वीडियो क्लिप, फोटो, ग्राफिक्स, ऑडियो क्लिप, लंबे पाठ या मोबाइल उपकरणों का उपयोग करके प्राप्त करने और प्राप्त करने के लिए सभी के संयोजन की अनुमति देता है।

जैसा की हम सभी जानते है, आज के समय में लोग फ़ोन का इस्तेमाल एक दूसरे से बात करने के साथ ही विभिन्न मनोरंजन के साधन के रूप में भी करते हैं, वैसे तो आमतौर फ़ोन का इस्तेमाल बात करे के लिए होता है, लेकिन हम फ़ोन का इस्तेमाल आज के समय में फ़ोटो खींचने से लेकर वीडियो आदि बनाने के लिए भी करते हैं, इसके साथ ही हम फ़ोन से एक दूसरे को फ़ोटो या फ़िर Video भेजते भी हैं, आपकी जानकारी के लिए बताना चाहेंगे की Multimedia Messaging Technique का विकास SMS Technique के आधार पर ही किया गया था. और इसे सबसे पहले वर 1984 में विकसित किया गया. जो किसी User द्वारा हर बार Photo लेने पर सेवा प्रदाता को Fees लेने में सक्षम बनती थी. आप इस Technique का इस्तेमाल किसी Device में नही कर सकते है।

आज के समय में MMS का Trend काफ़ी low हो गया है. लेकिन कुछ समय पहले MMS काफ़ी प्रचलन में हुआ करता था. जो Device इसे Support करती है यह केवल उन्ही में इस्तेमाल हो सकता है. यह Mobile Phones, Smartphones, Personal Computers, PDA, Handheld Devices आदि में इस्तेमाल होता है. MMS की खोज़ ने एना सिर्फ़ दुनिया के संचार माध्यम में एक नई क्रांति लायी बल्कि लोगों को एक दूसरे के और पास ला के खड़ा कर दिया।

MMS का मतलब मल्टीमीडिया मैसेजिंग सर्विस है. यह SMS users को मल्टीमीडिया सामग्री भेजने की अनुमति देने के लिए SMS के रूप में एक ही तकनीक का उपयोग करके बनाया गया था. यह चित्रों को भेजने के लिए सबसे लोकप्रिय है, लेकिन इसका उपयोग ऑडियो, फोन संपर्क और वीडियो फ़ाइलों को भेजने के लिए भी किया जा सकता है।

क्योंकि SMS और MMS एक सेलुलर नेटवर्क पर भेजे जाते हैं, उन्हें केवल आरंभ करने के लिए सेलुलर वाहक से वायरलेस योजना की आवश्यकता होती है. मानक SMS संदेश प्रति संदेश 160 वर्णों तक सीमित हैं. यदि कोई संदेश इस सीमा से अधिक है, तो वह अपनी लंबाई के आधार पर प्रत्येक वर्ण के 160 खंडों में विभाजित हो जाता है. अधिकांश वाहक आज इन संदेशों को एक साथ श्रृंखलाबद्ध करते हैं ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि वे भेजे गए क्रम में आते हैं. SMS के विपरीत, MMS संदेशों में एक मानक सीमा नहीं होती है. जबकि उनका अधिकतम आकार वाहक और संदेश प्राप्त करने वाले उपकरण पर निर्भर करता है, 300 केबी को अक्सर सबसे बड़े आकार के रूप में उल्लेख किया जाता है, जो कि अधिकांश वाहक मज़बूती से संभालेंगे।

मल्टीमीडिया मैसेजिंग सर्विस (MMS) जिसे कभी-कभी मल्टीमीडिया मैसेजिंग सिस्टम कहा जाता है. 3GPP (Third Generation Partnership Project) द्वारा विकसित एक संचार तकनीक है. जो Users को सक्षम मोबाइल फोन और अन्य उपकरणों के बीच मल्टीमीडिया संचार का आदान-प्रदान करने की अनुमति देती है. लघु संदेश सेवा (SMS) प्रोटोकॉल के लिए एक विस्तार, एमएमएस भेजने और प्राप्त करने का एक तरीका परिभाषित करता है. लगभग तुरंत, वायरलेस संदेश जिसमें पाठ के अलावा छवियां, ऑडियो और वीडियो क्लिप शामिल हैं. जब तकनीक पूरी तरह से विकसित हो गई है, तो यह Streaming वीडियो के प्रसारण का समर्थन करेगी. एमएमएस मैसेजिंग का एक सामान्य वर्तमान एप्लिकेशन पिक्चर मैसेजिंग (मोबाइल प्राप्तकर्ता को तत्काल डिलीवरी के लिए फोटो खींचने के लिए कैमरा फोन का उपयोग) है. अन्य संभावनाओं में स्टॉक उद्धरण, खेल समाचार और मौसम की रिपोर्ट की एनिमेशन और ग्राफिक प्रस्तुतियाँ शामिल हैं।