EMI Full Form in Hindi




EMI Full Form in Hindi - ई एम आई की पूरी जानकारी हिंदी में

EMI Full Form in Hindi, EMI की full form क्या है, EMI निकाल ने का Formula क्या होता है, EMI का फुल फॉर्म क्या होता है, EMI Full Form,ई एम आई की फुल फॉर्म इन हिंदी, EMI कैसे Calculate करते है, EMI क्या होता है, Excel में EMI कैसे निकलते है, दोस्तों क्या आपको पता है EMI की full form क्या है, EMI का क्या मतलब होता है, EMI Hota Kya Hai, अगर आपका answer नहीं है तो आपको उदास होने की कोई जरुरत नहीं है क्योंकि आज हम इस post में आपको EMI की पूरी जानकारी हिंदी भाषा में देने जा रहे है तो फ्रेंड्स EMI Full Form in Hindi में और EMI की पूरी history जानने के लिए इस post को लास्ट तक पढ़े।

EMI की फुल फॉर्म “Equated Monthly Installment” होती है, EMI को हिंदी में “समान मासिक क़िस्त” कहते है. EMI एक प्रकार की मासिक क़िस्त होती है. जिसका प्रतिमाह भुगतान करना होता उस व्यक्ति को जो EMI पर किसी भी तरह का प्रोडक्ट खरीदता है. दोस्तों उदाहरण के तौर पर जब आप कोई महंगी चीज़ खरीदते है जैसे कार, laptop, ज्वैलरी या mobile आदि तो ये सभी सामान इतने कीमती होते हैं कि आप इनकी पूरी कीमत एक साथ नहीं चुका पाता या फिर पूरी कीमत एक साथ देने में आपको परेशानी का सामना करना पड़ता है. ऐसी परिस्थिति में EMI आपके लिए एक अच्छा जरिया बन सकता है. किसी भी प्रोडक्ट को EMI पर लेने से आपको पूरा पैसा एक साथ देना की जरुरत नहीं है बल्कि आप हर माह थोड़ा थोड़ा भुगतान करके कोई भी प्रोडक्ट खरीद सकते है. इस तरह आप अपनी monthly income से कुछ हिस्सा हर महीने निकालकर कीमती चीज़ें भी खरीद सकते हैं।

EMI को हम कुछ इस तरह से भी परिभाषित कर सकते है

EMI जब हम किसी Bank या फिर किसी Financial Institution जैसे Bajaj Finance से Loan के तौर पर पैसे लेते है और फिर उस loan की भरपाई हम एक साथ नहीं कर पते है तब Bank हम को लोन के पैसों को चुकाने की एक बहुत ही अच्छी सुविधा देता है जिसे हम EMI कहते है. जैसा की आप जानते है EMI के लिए Bank की तरफ से आप को एक Amount Fixed करना होता है और समय भी Fixed करना होता है, और फिर आप को उसी पीरियड में बैंक को वो राशि किस्तों में चुकानी होती है।

EMI कैसे Calculate करते है

EMI कैसे Calculate करते है या फिर EMI Calculate करने का फार्मूला क्या है आइये जानते है −

Result

EMI = [P x R x (1+R)^N]/[(1+R)^N-1],
P= Principal amount
R= Rate of Interest per month
अगर Rate of Interest 9% है तो R को कैसे calculate kare:
9 / (12×100) इससे हर महीने का रेट ऑफ़ इंटरेस्ट निकल आता है.
N = किस्तों की संख्या / number of installments

Note − दोस्तों आपको EMI कैलकुलेट करने में समस्या आ सकती है. अगर आपको भी EMI कैलकुलेट करने में कोई समस्या आते है तो इसके लिए कई Online calculator उपलब्ध है. जैसा Online EMI calculator for personal loan, car loan & home loan

EMI कौन देता है

EMI कौन देता है और कैसे EMI लिया जाता है. EMI लेने के लिए आप आपने नजदीकी बैंक से संपर्क कर सकते है. जिस बैंक से आप EMI लेते हो वो बैंक आपसे कुछ कागजी फॉर्मेलिटी फील करने बाद ही आपको EMI देता है. आपको पता होना चाहिए EMI एक लोन की तरह होता है जिस पर ब्याज भी लगता है. EMI पर ब्याज अलग अलग हो सकता है इसके लिए हम आपको यही सलाह देना चाहेंगे की आप EMI लेते समय बैंक से अच्छी तरह पूछ-ताछ करना न भूले।

EMI के फायदे

EMI लेने के बहुत से benefits है, EMI एक ऐसी प्रणाली है जिससे आप हर month थोड़े थोड़े पैसे देकर भी महंगे सामान खरीद सकते हैं. दोस्तों आइये अब हम EMI के कुछ ख़ास benefits के बारे में जानते हैं −

  • अगर आपको कोई फ्लैट लेना है तब आप बैंक से EMI करा सकते हैं।

  • EMI लेकर आप अपनी पढाई की फीस भर सकते है।

  • अगर आपको कोई महंगा मोबाइल खरीदना है तो आप EMI करा सकते हैं।

  • अगर आप कार खरीद चाहते है और आपके पास कार खरीद के पैसे नहीं है तब आप EMI करा सकते हैं।