BSF Full Form in Hindi




BSF Full Form in Hindi - बी. एस. एफ की पूरी जानकारी हिंदी में

BSF Full Form in Hindi, BSF Full Form, बी. एस. एफ फुल फॉर्म, क्या आपको पता है BSF की full form क्या है, और BSF का क्या मतलब होता है, क्या आपको पता है BSF के क्या कार्य है, अगर आपका answer नहीं है तो आपको उदास होने की कोई जरुरत नहीं है क्यूंकि आज हम इस post में आपको BSF की पूरी जानकारी हिंदी भाषा में देने जा रहे है तो फ्रेंड्स BSF Full Form in Hindi में और BSF की पूरी history जानने के लिए इस post को लास्ट तक पढ़े।

BSF Full Form in Hindi

BSF की फुल फॉर्म “Border Security Force” होती है, BSF को हिंदी भाषा में “सीमा सुरक्षा बल” कहते है. दोस्तों इसको भारत का प्रमुख Paramilitary force माना जाता है. BSF International Borders की निगरानी करती है और भारतीय सीमा की सुरक्षा का काम भी BSF द्वारा ही किया जाता है।

इसको विश्व की सबसे बड़ा Border Security Force के रूप में जाना जाता है. यह 6,385.36 KM लम्बे International Border की सुरक्षा करती है, दोस्तों यह border पवित्र, दुर्गम रेगिस्तानों, नदी-घाटियों और Glaciated Territories तक फैला हुआ है, BSF का काम युद्ध के ख़तरों के समय में लोगों की सुरक्षा करना और ख़तरों वाली जगह को अपने नियंत्रण में रखना होता है।

बीएसएफ भारतीय सेना का एक हिस्सा है जो सीमा की सुरक्षा करता है. बीएसएफ हमारे देश में एक प्रमुख अर्धसैनिक बल है और इसे सबसे बड़ा बी भी कहा जाता है. बीएसएफ भारत की एक सीमा सुरक्षा बल है, जिसे 1 दिसंबर, 1965 को स्थापित किया गया था. यह एक अर्धसैनिक बल है, जिसे शांति के समय में भारत की भूमि सीमा की रक्षा करने और पारगमन अपराध को रोकने के लिए आरोपित किया गया है।

BSF में नौकरी के लिए योग्यता क्या है

BSF में नौकरी करने के लिए आपकी योग्यता क्या होनी चाहिये आइये जानते है BSF की समय-समय पर recruitment निकलती है रहती है, दोस्तों इसके लिए रैंक के अनुसार आपकी योग्यता तय होती है, आपको पता होगा सबसे पहले कांस्टेबल के पदों पर recruitment की जाती है, जिसके लिए आपका 10th पास होना बहुत ही जरूरी है, और आवेदन करते समय आपकी उम्र 18 से 23 वर्ष के मध्य होनी चाहिए, एक और बात जो आपको ध्यान रखनी चाहिये इसमें SC/ST/OBC के तहत आपको अलग से कोटा मिलता है, recruitment से संबंधित information BSF समय-समय पर अपनी website पर online प्रकाशित करता है।

BSF में Ranks

Gazetted Officer in BSF

  • Additional Director General

  • Director General

  • Special Director General

  • Inspector General

  • Deputy Inspector General

  • Commandant

  • Second-in-Command

  • Assistant Commandant

  • Deputy Commandant

Non Gazetted Officers in BSF

  • Subedar Major

  • Inspector

  • Sub Inspector

  • Assistant Sub Inspector

  • Head Constable

  • Constable

What is BSF in Hindi

बीएसएफ का मुख्य उद्देश्य या काम भारतीय सीमा की सुरक्षा करना है. यह भारत का एक अर्धसैनिक बल है, इसका मुख्य कर्तव्य भारत की शांति के दौरान भूमि सीमा की रक्षा करना और अपराधिक अपराधों को रोकना है. वर्तमान में, यह दुनिया की सबसे बड़ी सीमा सुरक्षा बल है, यह भारत के पांच केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों में से एक है और गृह मंत्रालय के प्रशासनिक नियंत्रण में है. इसका मुख्यालय नई दिल्ली में है, जुलाई 2017 तक, देवेंद्र कुमार पाठक बीएसएफ के प्रमुख हैं।

अगर हम बात करे इसकी शरुवात की तो वर्ष 1965 तक राज्य सशस्त्र पुलिस बटालियन सीमाओं की रक्षा कर रही थी. जब पाकिस्तान ने 1965 में सरदार पोस्ट, छार बेट और बेरिया बेट पर हमला किया, तो राज्य सशस्त्र पुलिस स्थिति को संभालने में सक्षम नहीं थी. इसलिए, भारत सरकार ने सशस्त्र और प्रशिक्षित सीमा सुरक्षा बल स्थापित करने की योजना बनाई, सचिवों की समिति की सिफारिशों के बाद, सीमाओं की सुरक्षा सुनिश्चित करने और सीमाओं से संबंधित मुद्दों को संभालने के लिए 1 दिसंबर 1965 को बीएसएफ की स्थापना की गई थी. BSF के पहले प्रमुख श्री के एफ रुस्तमजी थे।

युद्ध की अवधि के दौरान, बीएसएफ का काम कम खतरे वाले क्षेत्रों को नियंत्रण में रखना है. यह बी का कर्तव्य है। एस। युद्ध के समय रणनीतिक स्थानों की सुरक्षा के लिए एफ। 1999 में कारगिल युद्ध के दौरान, "सीमा सुरक्षा बल" को बचाव जिले के साथ सबसे संवेदनशील क्षेत्रों में तैनात किया गया था. सीमा सुरक्षा बल राष्ट्रीय स्तर पर एक dog breeding और प्रशिक्षण स्कूल भी चलाता है, जिसे "कुत्तों के लिए राष्ट्रीय प्रशिक्षण केंद्र" के रूप में जाना जाता है, सीमा सुरक्षा बल भारतीय सीमा पर वाघा सीमा उत्सव आयोजित करता है।

भारत देश में 5 केंद्रित Paramilitary forces हैं. उनमें से एक बीएसएफ force है, इसका आदर्श वाक्य जीवन पर्यंत कर्तव्य है. यह बहुत गर्व की बात है कि यह विश्व का सबसे बसा सीमा रक्षक बल है, इसके अलावा यह भारत का अकेला ऐसा Paramilitary forces है जिसके पास समुद्री विंग, एयर विंग तथा तोपखाना रेजिमेंट हैं. तोपखाना रेजिमेंट में इसकी 20 बटालियन हैं. इसके पास dog तथा camel wing भी है. बीएसएफ का कुत्तों की training और breeding के लिए राष्ट्रीय स्तर पर एक स्कूल है. इन सब के अलावा इस बल के पास TSU है, जिसकी स्थापना 12 मई 1976 में टेकनपुर में कई गयी थी. यह यूनिट आंसू धुआँ का निर्माण करती है. BSF मूल रूप से भारत का एक Paramilitary forces है जिसका मूल उद्देश्य है भारत की सीमा की रक्षा करना।

बीएसएफ का गठन 1 दिसंबर सन 1965 को हुआ था. यहाँ पर हम आपकी जानकारी के लिए बताना चाहेंगे की वर्ष 1965 में जब पाकिस्तान ने भारत के कच्छ में सरदार पोस्ट, छार बेट तथा बेरिया बेट पर हमला किया , जिस समय यह हमला हुवा उस समय हमारे देश की दूर दशा लगभग हर मोर्चे पर कामजोर थी. दोस्तों उस समय सीमा सुरक्षा का दायित्व व्यक्तिगत राज्य पुलिस बलों के पास था. लेकिन हमारी फाॅर्स हमारे देश की सीमा की सुरक्षा करने में असमर्थ रही, उस समय भारत सरकार को एक ऐसी सुरक्षा बल की आवश्यकता महसूस हुई जो विशेष एवं नियंत्रित रूप से भारत की अंतर्राष्ट्रीय सीमाएँ की रक्षा करे, इसी आवश्यकता को पूरा करने के लिए बीएसएफ का गठन किया गया. यह force भारत की 6385.36 किलोमीटर लंबी अंतरराष्ट्रीय सीमा की सुरक्षा के लिए तैनात है. जब इसका गठन हुआ था उस समय बीएसएफ की 25 बटालियन थी. BSF में हर Government department की तरह दो रैंक श्रेणी हैं पहला है गजेटेड ऑफिसर दूसरा है नॉन-गजेटेड ऑफिसर।

BST शांति समय और युद्ध समय में अलग-अलग कार्य करता है।

शांति समय में, इसके कार्य इस प्रकार हैं:

  • ट्रांस बॉर्डर अपराधों और तस्करी जैसी अवैध गतिविधियों को रोकने का काम करता है।

  • सीमा क्षेत्रों के पास लोगों के बीच सुरक्षा की भावना को संरक्षण और बढ़ावा देने के लिए।

  • सीमा क्षेत्रों के पास लोगों के बीच सुरक्षा की भावना को संरक्षण और बढ़ावा रोकने का काम करता है।

युद्ध के समय में, कुछ प्रमुख कार्य इस प्रकार हैं:

  • मुख्य रक्षा पंक्ति के फ्लैक्स को विस्तार प्रदान करने के लिए

  • दुश्मन के कमांडो, पैरा ट्रूपर्स इत्यादि से वायु-क्षेत्र जैसे महत्वपूर्ण प्रतिष्ठानों की रक्षा के लिए।

  • उन क्षेत्रों में सेना का मार्गदर्शन करने के लिए जहां मार्गों को जाना जाता है

  • सेना द्वारा बीएसएफ को सौंपे गए विशेष कार्यों को करने के लिए

  • सेना द्वारा निर्दिष्ट क्षेत्रों में घुसपैठ विरोधी गतिविधियों को करने के लिए।