IPS Full Form in Hindi




IPS Full Form in Hindi - आई. पी. एस. की पूरी जानकारी हिंदी में

IPS Full Form in Hindi, IPS Full Form, आई. पी. एस. फुल फॉर्म, क्या आपको पता है IPS की full form क्या है, और IPS का क्या मतलब होता है, क्या आपको पता है IPS के क्या कार्य है, IPS का Syllabus क्या है, अगर आपका answer नहीं है तो आपको उदास होने की कोई जरुरत नहीं है क्यूंकि आज हम इस post में आपको IPS की पूरी जानकारी हिंदी भाषा में देने जा रहे है तो फ्रेंड्स IPS Full Form in Hindi में और IPS की पूरी history जानने के लिए इस post को लास्ट तक पढ़े।

IPS की फुल फॉर्म ““Indian Police Service” होती है, IPS को हिंदी भाषा में “भारतीय पुलिस सेवा” कहते है. यह भारत सरकार की 3 अखिल भारतीय सेवाओं में से एक है। अन्य दो सेवाएं IAS (भारतीय प्रशासन सेवा) और IFS (भारतीय विदेश सेवा) हैं. आइये अब इसके बारे में अन्य सामान्य जानकारी प्राप्त करते हैं।

जैसा की आप जानते है, IPS का गठन कानून प्रणाली के लिए दिशा निहित Instructions, कानून व्यवस्था, और किसी भी तरह के crime को नियंत्रित करने के लिए किया गया था. वर्तमान समय में, प्रशासनिक posts की नियुक्ति के लिए upsc कई अलग-अलग तरह की civil service exam करती रहती है, जैसे IPS, IRS, IAS, IFS, आदि दोस्तों इस तरह के exam को clear करने के बाद ही आप police अधिकारी बन सकते है, आज के समय में भी कुछ candidates तो IPS examination की बात करने से भी डरते है, उन लोगों का मानना है की हम इस तरह की Exam को कभी भी Crack नही कर पाएंगे, हालाकि ये परीक्षा UPSC द्वारा हर साल आयोजित करवाई जाती है और लाखो candidates इसमें भाग लेते है, लेकिन बहुत काम candidates इसमें सफल हो पाते है।

IPS के लिए Eligibility

IPS अधिकारी बनने के लिए क्या eligibility होनी चाहिए आये जानते है, दोस्तों अगर आप IPS के लिए Apply करना चाहते है तो आपके निचे देये गये eligibility के parameters का होना बहुत ही जरूरी है −

  • IPS अधिकारी बनने के लिए आपका भारतीय नागरिक होना आवश्यक है।

  • IPS अधिकारी बनने के लिए आपकी height (पुरुष- 5.4 ft (165 CM), महिला- 4.9 ft (150 CM)) होना बहुत ही आवश्यक है।

  • आपके पास किसी भी मान्यता प्राप्त university या institute से स्नातक डिग्री होना बहुत ही आवश्यक है।

  • दोस्तों आपकी आयु कम से कम 21 वर्ष और अधिकतम 30 वर्ष होनी चाहिए यह OBC, ST, SC और अन्यों के लिए अलग अलग हो सकती है।

IPS एक top rated और प्रतिष्ठित service है, भारतीय पुलिस सेवा का गठन भारत की स्वतंत्रता के एक साल बाद 1948 में किया गया. इसने भारतीय (इंपीरियल) पुलिस को काफी बदल दिया है. IPS अधिकारियों की भर्ती संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) की परीक्षा के माध्यम से की जाती है. इस परीक्षा का आयोजन हर साल किया जाता है और चयनित उम्मीदवार शीर्ष तीन सेवाओं IAS, IFS और IPS से अपनी प्राथमिकताएं चुनते हैं. सामान्य श्रेणी के उम्मीदवारों के लिए इस परीक्षा को पास करने के चार प्रयास, ओबीसी उम्मीदवारों के लिए 7 प्रयास और एससी / एसटी उम्मीदवारों के लिए कोई प्रतिबंध नहीं है. IPS service को विभिन्न विभागों जैसे अपराध शाखा, होमगार्ड, ट्रैफिक ब्यूरो और आपराधिक जांच विभाग (CID) में विभाजित किया गया है।

IPS अधिकारी की सैलरी

IPS officer को भी पीएफ, ग्रैच्युटी, हेल्थकेयर services, आजीवन पेंशन, निवास, सर्विस क्वार्टर, transportation, घरेलू कर्मचारियों, अध्ययन की छुट्टियां और कई अन्य retirement सुविधाएं दी जाती हैं. इसमें आईजी, डीआईजी, एडीजी, एसपी के आधार पर सैलरी मिलती है।

IPS अधिकारी बनने के लिए शिक्षा योग्यता

इस नौकरी के लिए आवेदन करने के लिए उम्मीदवार को किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातक होना चाहिए. हर साल एक परीक्षा संघ लोक सेवा आयोग द्वारा निर्धारित की जाती है. यह अपने अत्यधिक प्रतिस्पर्धी स्वभाव के कारण भारत में सबसे कठिन परीक्षा मानी जाती है।

एक IPS अधिकारियों के नियम और कार्य

  • भारतीय खुफिया एजेंसी RAW (रिसर्च एंड एनालिसिस विंग), IB (इंटेलिजेंस ब्यूरो), CBI (सेंट्रल ब्यूरो ऑफ़ इन्वेस्टिगेशन), CID (आपराधिक जांच विभाग) आदि का नेतृत्व और कमान संभालते हैं।

  • सार्वजनिक शांति और व्यवस्था बनाए रखने के लिए, अपराध की रोकथाम, जांच, पता लगाना, वीआईपी सुरक्षा, आतंकवाद का मुकाबला, नशीले पदार्थों की तस्करी, आर्थिक अपराध, आपदा प्रबंधन आदि।

  • CAPF का नेतृत्व और कमान, जिसमें CPO (केंद्रीय पुलिस संगठन), और केंद्रीय अर्धसैनिक बल (CPF) जैसे BSF (सीमा सुरक्षा बल), CRPF (केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल), NSG (राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड) शामिल हैं , CISF (केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल) आदि।

  • नीति निर्माण में राज्य और केंद्र के मंत्रालय और विभाग से बातचीत और सेवा करने का काम एक IPS ऑफिसर को दिया जाता है।

What is IPS in Hindi

PS का पूर्ण रूप या पूरा नाम भारतीय पुलिस सेवा है, IPS, बस पुलिस सेवा के रूप में जाना जाता है. भारत सरकार की तीन अखिल भारतीय सेवाओं में से एक है. भारतीय पुलिस सेवा का गठन भारत की स्वतंत्रता के एक साल बाद यानी वर्ष 1948 में हुआ। एक शीर्ष रेटेड और भारत में सबसे प्रतिष्ठित सेवाओं में से एक होने के नाते, इसने भारतीय (इंपीरियल) पुलिस को भी बदल दिया है. IPS अधिकारियों की भर्ती संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) की परीक्षा के माध्यम से की जाती है।

UPSC परीक्षा हर साल आयोजित की जाती है, और चयनित उम्मीदवार शीर्ष तीन सेवाओं यानी IAS, IFS और IPS से अपनी प्राथमिकताएं चुन सकते हैं. सामान्य श्रेणी के उम्मीदवारों के लिए, इस परीक्षा को पास करने के लिए चार प्रयास, ओबीसी उम्मीदवारों के लिए 7 प्रयास और एससी / एसटी उम्मीदवारों के लिए कोई प्रतिबंध नहीं है।

IPS सेवा को विभिन्न departments जैसे अपराध शाखा, आपराधिक जांच विभाग (CID), होमगार्ड और ट्रैफिक ब्यूरो में विभाजित किया गया है. लगभग 100000 से अधिक उम्मीदवारों ने परीक्षा दी जिसमें से 200 से कम अंत में चुने गए हैं. अपने चरम प्रतिस्पर्धी स्वभाव के कारण, इसे भारत में सबसे कठिन परीक्षा माना जाता है. इस नौकरी के लिए आवेदन करने के लिए आवश्यक न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातक की degree है. पुरुषों के लिए आवेदन करने के लिए आवश्यक न्यूनतम ऊंचाई 165 सेमी और महिलाओं के लिए 150 सेमी है. उम्मीदवार एससी / एसटी से संबंधित है और असमिया, कुमाऊँ, नागालैंड आदिवासी, गोरखा, गढ़वाली आदि जैसे जातियों में पुरुषों और महिलाओं के लिए न्यूनतम ऊंचाई क्रमशः 160 और 145 सेमी है।

IPS एक प्रचलित संक्षिप्त शब्द है, इस शब्द के बारे में आपने भी कभी न कभी न सुना तो होगा ही यह संक्षिप्त शब्द भारतीय पुलिस के मुखिया के लिए प्रयोग किया जाता है. आपकी जानकारी के लिए बताना चाहेंगे की एक IPS का काम देश में कानून व्यवस्था को संचालित करना है. हमारे देश की पुलिस व्यवस्था का जिम्मा IPS को ही सौंपा जाता है।

IPS एक बहुत बड़ी पोस्ट है, इस पद पर नियुक्त व्यक्ति भारत की रॉ जैसी खुफिया एजेंसी की भी सहायता करता है, तथा देश की कानून व्यवस्था सदृढ़ करने के साथ साथ आपराधिक गतिविधियों के खिलाफ सीधी कार्यवाही करने की क्षमता रखता है. एक IPS बनाने के लिए आपको कड़ी मेहनत करनी पड़ती है, हमारे देश में हर साल लाखों करोड़ों छात्र इसके लिए तैयारी करते जिनमे से कुछ ही इस पद कर पहुंच पाते है, Indian constitution देश के हर नागरिक को यह हक़ देता है कि वह IPS जैसे शक्तिशाली व सम्मानित पद पर नियुक्त हो सके बस इसके लिए उस व्यक्ति को सिविल परीक्षा उत्तीर्ण कर स्वयं को सर्वश्रेष्ठ साबित करना होता है. IPS जैसे गौरव पूर्ण पद के लिए ली जाने वाली UPSC की Civil examination भारत में बहुत लोकप्रिय है. सालाना करोड़ों की सँख्या में अभियार्थी इस परीक्षा के लिए आवेदन करते हैं, तथा इन करोड़ों अभियार्थियों में से जो सबसे उत्तम होते हैं वे सम्मानीय Police posts के लिए चुने जाते हैं।

IPS का Syllabus

Prelimanary Paper 1 Syllabus

  • राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय महत्व की वर्तमान घटनाएं।

  • भारतीय और विश्व भूगोल भारत और विश्व का भौतिक, सामाजिक, आर्थिक भूगोल।

  • पर्यावरण पारिस्थितिकी, जैव-विविधता और जलवायु परिवर्तन पर सामान्य मुद्दे

  • भारत का इतिहास और भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन।

  • सामाजिक क्षेत्र की पहल, आदि।

  • आर्थिक और सामाजिक विकास सतत विकास, गरीबी, समावेश, जनसांख्यिकी,

  • नीति, अधिकार मुद्दे, आदि।

  • भारतीय राजनीति और शासन संविधान, राजनीतिक प्रणाली, पंचायती राज, सार्वजनिक

Prelimanary Paper 2 Syllabus

  • समझ

  • सामान्य मानसिक क्षमता.

  • निर्णय लेना और समस्या का समाधान.

  • संचार कौशल सहित पारस्परिक कौशल.

  • तार्किक तर्क और विश्लेषणात्मक क्षमता.

  • संख्या और उनके संबंध, परिमाण के आदेश.

  • डेटा व्याख्या (चार्ट, ग्राफ, टेबल, डेटा पर्याप्तता आदि.