VISA Full Form in Hindi




VISA Full Form in Hindi - वीजा की पूरी जानकारी हिंदी में

VISA Full Form in Hindi, VISA की full form क्या है, VISA का फुल फॉर्म क्या होता है, VISA Full Form, वीजा की फुल फॉर्म इन हिंदी, VISA क्या होता है, VISA क्या है कितने टाइप का होता है कैसे Apply करे, VISA कितने प्रकार का होता है, दोस्तों क्या आपको पता है VISA की full form क्या है, VISA का क्या मतलब होता है, VISA Hota Kya Hai, अगर आपका answer नहीं है तो आपको उदास होने की कोई जरुरत नहीं है क्योंकि आज हम इस post में आपको VISA की पूरी जानकारी हिंदी भाषा में देने जा रहे है तो फ्रेंड्स VISA Full Form in Hindi में और VISA की पूरी history जानने के लिए इस post को लास्ट तक पढ़े।

VISA की फुल फॉर्म “Visitors International Stay Admission” होती है, VISA का हिंदी में अर्थ या फिर Meaning document होता है जो देखा गया. VISA का उपयोग लोग तब करते है जब उनको अपने देश से किसी दुसरे देश में जाना होता है VISA की सहायता से आप किसी दूसरे देश में कितने दिन रहेंगे इसकी अवधि तय की जाती है. किसी को भी घूमने-फिरने के लिए या फिर किसी कारण से दूसरे देश में जाना होगा तो उसके पास Visa होना बहुत ही आवश्यक है।

VISA एक तरह का permisson lette है, इसका उपयोग वह व्यक्ति करता है जो दूसरे देश में किसी काम की वजह से जान चाहता है, VISA आपको यह permisson देता है की आप किसी भी दूसरे देश में आ और जा सकते है, वहा पर आप रह कर अपना काम भी कर सकते है. लेकिन आपको ये बात पता होनी चाहिए की आप दूसरे देश में कितने दिन रुक सकते है, और वहा पर आप क्या कर सकते है ये सब बाते आपके visa के ऊपर निर्भर करती है. आपका VISA जिस भी तरह का है, आप उस तरह का काम दूसरे देश में जा कर सकते है. कुछ VISA ऐसे होते है, जिसकी मदद से आप कई देशों में घूम-फिर सकते है, दोस्तों ऐसे VISA को Common Visa कहते है। 

अगर आप भी किसी दूसरे देश का VISA लेना चाहते है तो आपको VISA के लिए कोई कारण बताना पड़ेगा की, किस काम के लिए आप VISA चाहते है जैसे की पढ़ाई वीजा, बिजनेस वीजा, Travel वीसा, आदि और आप वहा कितने दिन रहेंगे. VISA आपको इन सब बातों की जानकारी देने के बाद ही दिया जाता है. जैसा की आप जानते है कुछ ऐसे भी देश है जहा पर आप बिना VISA के सिर्फ passport लेकर आ जा सकते है. लेकिन बड़े देश जैसे सऊदी, ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड, मलेशिया, कुवैत, अमेरिका यहा पर जाने के लिए आपके पास VISA का होना बहुत जरूरी है।

VISA कितने प्रकार का होता है

VISA कितने प्रकार का होता है आइये जानते है, VISA कई type का होता है. VISA के type से ही हमको पता चलता है कि किस काम के लिए कौन सा VISA लगाया जाता है या फिर काम करेगा. उदाहरण के तौर पर यदि आप किसी दूसरे देश में पढ़ना चाहते हैं तो उसके लिए अलग VISA लगता है. और यदि आप किसी दूसरे देश में रह कर आपने कुछ काम करना चाहते तो उसके लिए अलग VISA लगता है, इसी तरह से अलग-अलग कई तरह के VISA होते हैं जो निम्न है −

  • On-Arrival Visa

  • Tourist Visa

  • Transit Visa

  • Student Visa

  • Journalist Visa

  • Marriage Visa

  • Diplomatic Visa

  • Immigrant Visa

  • Working Visa

  • Business Visa

  • Partner Visa

VISA ऐप्लिकेशन रिजेक्ट होने के कारण इस प्रकार है

अगर आप भी VISA के लिए apply करना चाहता तो आपको कुछ बातो का ख्याल रखना होगा जिसे आपकी VISA ऐप्लिकेशन रिजेक्ट न हो जो निम्न है −

  • अगर आपने ऐप्लिकेशन में कोई गलत जानकारी दी है तो ये ऐप्लिकेशन के रिजेक्ट होने का कारण बन सकता है।

  • आवेदक का अगर कोई क्रिमिनल रेकॉर्ड है और उस पर कोई मामला court में पेंडिंग है तो ये भी वीज़ा ऐप्लिकेशन के रिजेक्ट होने का कारण बन सकता है।

  • आवेदक से अगर सुरक्षा पर किसी तरह का खतरा हो सकता है तो VISA ऐप्लिकेशन को रिजेक्ट किया जा सकता है।

  • अगर आवेदक की इमेज या फिर रिश्ते उसके खुद के देश में अच्छे न हों तो ये भी VISA ऐप्लिकेशन के रिजेक्ट होना का कारण बन सकता है।

  • वीज़ा चाहने वाले व्यक्ति के पास यात्रा के लिए कोई वैध वजह न हो तो भी VISA ऐप्लिकेशन को रिजेक्ट किया जा सकता है।

  • अगर आवेदक ने पहले वीज़ा या इमिग्रेशन रूल्स तोड़े है तो यर भी VISA ऐप्लिकेशन के रिजेक्ट होना का एक कारण बन सकता है।

  • जिस देश में वह जा रहा है, वहां पर रहने का कोई इंतजाम न हो तब भी VISA ऐप्लिकेशन को रिजेक्ट किया जा सकता है।