ECS Full Form in Hindi




ECS Full Form in Hindi - ईसीएस क्या है?

ECS Full Form in Hindi, ECS की Full Form क्या हैं, ईसीएस की फुल फॉर्म क्या है, Full Form of ECS in Hindi, ECS Full Form in Hindi, ECS का पूरा नाम क्या है, ईसीएस के फायदे क्या है, ECS क्या होता है, ECS का पूरा नाम और हिंदी में क्या अर्थ होता है, ईसीएस क्या है, दोस्तों क्या आपको पता है, ECS की Full Form क्या है, और ECS होता क्या है, अगर आपका answer नहीं है तो आपको उदास होने की कोई जरुरत नहीं क्योंकि आज हम इस article के माध्यम से जानेंगे की ECS क्या होता है, और इसकी Full Form क्या होती है? चलिए ECS के बारे में सभी प्रकार की सामान्य जानकारी आसान भाषा में इस article की मदद से प्राप्त करते हैं।

ECS की full form "Electronic Clearing Service" होती है. इसका Hindi Meaning "विद्युतीय समाशोधन सेवा" होता है, ECS वास्तव में एक bank account से दूसरे bank account में पैसे भेजने का digital तरीका है. दोस्तों अगर बात करे Credit Suis रिपोर्ट की तो उस रिपोर्ट के मुताबिक देश में साल 2023 तक digital payment का आंकड़ा एक लाख करोड़ डॉलर को पार कर जायेगा. आइये अब आपको इसके बारे में और अधिक जानकारी उपलब्ध करवाते है।

ECS एक bank खाते से दूसरे bank खाते में money transfer करने की Electronic प्रणाली है, ECS ग्राहक को आपने खाते से जुड़े electronics credit/debit card से लेन देन करने की सुविधा प्रदान करता है, दोस्तों अगर आप चाहें तो अपने bank account से ECS सुविधा का use करके किसी ग्राहक को पेमेंट कर सकते हैं. यह वास्तव में एक बहुत ही use फुल सेवा है जिसकी मदद से ग्राहक एक bank account से दूसरे account में फंड ट्रांसफर कर सकता है. अगर आप हर महीने Sip के जरिये mutual fund में निवेश करना चाहतें है, और यदि आप हर महीने एक निश्चित तारीख को बिजली/पानी/टेलीफोन आदि का बिल payment करते हैं, तो आप इसके लिए bank को ECS mandate दे सकते हैं. ECS के इस्तेमाल से आप किसी लोन या Credit card का payment भी कर सकते है।

अपने बैंक अकाउंट से ECS कैसे सेट अप करें?

  • ECS पेमेंट की सुविधा अगर आप भी अपने bank account से लेना चाहते हैं, तो इसके लिए आपको सबसे पहले अपने bank को इसकी सूचना देनी होगी. और उसके बाद आपका bank आपको इसके लिए एक ECS mandate फॉर्म देगा. इस फॉर्म के माध्यम से ही आप bank को ECS क्रेडिट/डेबिट का mandate देते हैं।

  • अपने bank account से ECS सेट करने के लिए आपको अपने bank account की शाखा और account से जुड़ी अन्य महत्वपूर्ण जानकारी देनी होती है. फॉर्म को भरते समय आप ECS की अधिकतम रकम के बारे में इंस्ट्रक्शन दे सकते हैं।

  • ECS सेवा शुरू हो जाने के बाद जब भी आपके bank account में कोई रकम ऐड होगी या उसमें कोई राशि आएगी, तो आपको SMS के जरिये इसकी जानकारी मिल जाएगी।

ECS Service के प्रकार ?

ECS Service निम्न प्रकार से हो सकती है −

  • ECS credit − ECS क्रेडिट में एक संस्थान आपके बैंक accounts में क्रेडिट करता है, उदाहरण के तौर पर आपके लाभांश, वेतन इत्यादि, आपकी जानकारी के लिए बता दे एकाधिक accounts को क्रेडिट करने के लिए एक एकल accounts को समय-समय पर डेबिट किया जा सकता है।

  • ECS debit − ECS डेबिट में आप अपने ऋण, म्यूचुअल फंड, पॉलिसी का premium आदि के लिए EMI के रूप में भुगतान करते हैं.