CA Full Form in Hindi




CA Full Form in Hindi - सीए क्या है?

CA Full Form in Hindi, CA का Full Form क्या हैं, सीए का फुल फॉर्म क्या है, Full Form of CA in Hindi, CA किसे कहते है, सीए क्या होता है, CA का पूरा नाम और हिंदी में क्या अर्थ होता है, सीए कैसे बनें, CA course की कितनी fees होती है, CA की salary कितनी होती है, दोस्तों क्या आपको पता है CA की Full Form क्या है, और CA होता क्या है, अगर आपका answer नहीं है, तो आपको उदास होने की कोई जरुरत नहीं है, क्योंकि आज हम इस post में आपको CA की पूरी जानकारी हिंदी भाषा में देने जा रहे है. तो फ्रेंड्स CA Full Form in Hindi में और CA की पूरी history जानने के लिए इस post को लास्ट तक पढ़े।

CA की फुल फॉर्म “Chartered Accountant” होती है, CA को हिंदी भाषा में मुनीम भी कहते है. एक Chartered Accountant किसी बड़ी Company या किसी सेठ के यहाँ सरकारी टेक्स या अन्य लेन देन का लेखा जोखा रहता है, आइये अब इसके बारे में अन्य सामान्य जानकारी प्राप्त करते हैं।

CA एक ऐसा प्रोफेशनल कोर्स है, और इस कोर्स में आपको हिसाब किताब के बारे में सिखाया जाता है, आपकी जानकारी के लिए बता दे सीए का काम लोगो को Financial Guide या एडवाइस देना. CA में आपको Business Accountant, टैक्स, इत्यादि के बारे में ज्ञान दिया जाता है. इस कोर्स को करने के बाद आप Banking, टैक्स या फिर अकाउंटेंट की जॉब आसानी के साथ कर सकते है. दोस्तों इस कोर्स को पूरा करने के बाद आपको बड़ी-बड़ी मल्टीनेशनल कंपनी के जॉब ऑफर आने लगते है. एक प्रोफेशनल चार्टेड अकाउंटेंट बनने के लिए आपको कई सारे Exams से गुजरना पड़ता है, तभी आप एक CA बन सकते है, आइये अब जानते है, आप कैसे एक अच्छा Chartered Accountant बन सकते है।

CA बनने के लिए योग्यता ?

CA बनने के लिए आपकी क्या योग्यता होनी चाहिए आइये जानते है, इस कोर्स के एंट्रेंस एग्जाम के लिए आप 10th क्लास पास करने के बाद अप्लाई कर सकते है, लेकिन इस एंट्रेंस एग्जाम को आप 12th क्लास पास करने के बाद ही दे सकते है. एक और बात जो आपको पता होनी चाहिए वो यह आर्ट्स कॉमर्स साइंस स्ट्रीम के विद्यार्थी भी इस एग्जाम को दे सकते है. CA एंट्रेंस एग्जाम के लिए आपको परसेंटेज की जरुरत नही है इस एंट्रेंस एग्जाम देने के लिए बस आपका 12th क्लास पास होने ही काफी है।

CA कैसे बनें?

Chartered Accountant बनने के लिए आपको CA कोर्स करना होता है, इस कोर्स को 2 तरह किया जा सकता है, 12th क्लास के बाद या graduation के बाद. दोस्तों अगर आप 12th के बाद CA करना चाहते है, तो इसके लिए आपको CPT एंट्रेंस टेस्ट देना पड़ता है, और अगर आप इस कोर्स को आपने graduation के बाद करना चाहते है, तो इसके लिए आपको CPT एंट्रेंस टेस्ट देने की जरुरत नहीं है लेकिन अगर Commerce graduate ने graduation में 55% से कम और अन्य ग्रेजुएट (आर्ट्स, साइंस) ने graduation में 60% से भी कम अंक अर्जित किये है, तब यह CPT एंट्रेंस टेस्ट देना ही पड़ेगा।

CPT एंट्रेंस एग्जाम पास करने के बाद अथवा graduation (कॉमर्स में न्युनत्तम 55% एंव अन्य में न्यूनतम 60% अंक) पास कर चुके students को IPCC के लिए registration करवाना होता है, और फिर इसके सभी exams को पास करना पड़ता है।

IPCC दोनों ग्रुप को पास करने के बाद student को 3 साल की Practical Training के लिए registration करवाना पड़ता है, आपकी जानकारी के लिए बता दे इस training को अर्तिक्लेशिप कहते है. यह ट्रेनिंग practice कर रहे CA के under की जाती है।

अगर student चाहे तो Articleship के 3 साल पुरे होने के 6 महीने पहले ही CA के final exam दे सकते है, इसमें students को बहुत ही Advanced level पर एग्जाम क्लियर करना होता है।

CA Final की परीक्षा पास कर लेने के बाद और ICAI द्वारा करवाये जाने वाले GMCS प्रोग्राम को पूरा कर लेने पर ICAI से मेम्बरशिप प्राप्त हो जाती ह. इसके बाद वह अपने नाम के आगे CA लगा सकता है।