IDBI Full Form in Hindi




IDBI Full Form in Hindi - आई.डी.बी.आई की पूरी जानकारी हिंदी में

IDBI Full Form in Hindi, IDBI Full Form, आई.डी.बी.आई की फुल फॉर्म इन हिंदी, दोस्तों क्या आपको पता है IDBI की Full Form क्या है, IDBI का क्या मतलब होता है, IDBI की स्थापना कब हुई थी, और IDBI की विशेषताएँ क्या है, अगर आपका answer नहीं है तो आपको उदास होने की कोई जरुरत नहीं है क्योंकि आज हम इस post में आपको IDBI की पूरी जानकारी हिंदी भाषा में देने जा रहे है तो फ्रेंड्स IDBI Full Form in Hindi में और IDBI की पूरी history जानने के लिए इस post को लास्ट तक पढ़े।

IDBI की फुल फॉर्म “Industrial Development Bank of India” होती है, हिंदी भाषा में इसे “भारतीय औद्योगिक विकास बैंक” कहा जाता है, दोस्तों IDBI बैंक की स्थापना RBI की स्वामित्व सहायक company के रूप में सन 1964 में संसद के एक act के तहत की गई थी।

Industrial Development Bank of India का मुख्यालय मुंबई में स्थिति है, दोस्तों ये पहले भारत का Industrial Development Bank था. सन 1964 मे बहुत सोच विचार कर भारतीय उद्योग के विकास के लिए क्रेडिट और अन्य वित्तीय सुविधाएं प्रदान करने के लिए इसे स्थापित किया गया था, आज के समय मे IDBI को भारत के सबसे बड़े commercial banks मे से एक माना जाता है यह बैंक personal banking और financial solution प्रदान करता है।

IDBI Bank का इतिहास

IDBI Bank के इतिहास के बारे में आइये जानते, सन 1930 में द्वितीय विश्व युद्ध समाप्त होने के बाद देश मे professional development को बढ़ावा देने के लिए, दोस्तों development bank का निर्माण किया गया था, India की आजादी के समय देश का banking system काफी developed हो चूका था।

इस बैंक का official financial विकास रणनीति को गोद लेने का मुख्य उद्देश्य कृषि एवं उद्योग की regional ऋण जरूरतों को पूरा करना था. देश मे सामान्य Banking की जरूरतो को पूरा करने एवं उद्योग और कृषि की short working पूंजी की आवश्यकताओ को पूरा करने के लिए commercial banking network का विस्तार किया गया जिसमे प्रमुख IDBI, NABARD, NHB एवं SIDBI है।

भारतीय industrial development बैंक में सरकार की 85.96% की हिसेदारी है. IDBI बैंक के अभी तक 13,722 ATMs और 1899 ब्रांच है. इसकी एक ब्रांच Dubai में भी है।31 March 2015 तक IDBI के 16,555 कर्मचारी थे और 197 कर्मचारी डिसेबल है।

What is IDBI in Hindi

IDBI बैंक को सन 1964 में भारतीय रिजर्व बैंक की पूर्ण स्वामित्व वाली Subsidiary company के रूप में संसद के एक अधिनियम के तहत स्थापित किया गया, स्थापना के 12 साल बाद 1976 में IDBI का संचालन और देख-रेख का जिम्मा भारत सरकार को दे दिया गया. भारत में उद्योग के क्षेत्र में वित्तपोषण को बढ़ावा देने और विकसित करने वाली संस्थाओं की गतिविधियों का समन्वय करने के लिए इसे प्रमुख वित्तीय संस्थान बनाया गया है. यह Green field projects का विस्तार, पुनर्मूल्यांकन और विविधकरण के उद्देश्यों के लिए रुपए और विदेशी मुद्राओं में भी, वित्तीय सहायता प्रदान की जाती है। और आज यह बैंक कई तरह के ऋण और मुद्रा लोन देते हैं. 1992 से सरकार द्वारा वित्तीय क्षेत्र के सुधारों के मद्देनजर IDBI ने राज्य स्तरीय वित्तीय संस्थानों और बैंकों द्वारा दिए गए ऋणों के पुनर्वित्त के माध्यम से अप्रत्यक्ष वित्तीय सहायता प्रदान की थी।

भारतीय औद्योगिक विकास बैंक या IDBI, भारत के प्रमुख सार्वजनिक बैंकों में से एक बैंक है. आपकी जानकारी के लिए बता दे की रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया के मुताबिक यह देश का चौथा सबसे बड़ा सार्वजनिक बैंक है. इसकी स्थापना 01 July 1964 में हुई थी, यह बैंक Indian Industries को Credit and other Financial Facilities Provide करवाते है ताकि हमारे देश में अच्छे और सस्ते उदयोग लग सके, इसके साथ ही स्वदेशी की बिक्री से उत्पन्न होने वाले एक्सचेंज के बिलों के पुनर्मुद्रण के माध्यम से आस्थगन भुगतान किया, भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा बनाई गई समिति ने अपनी वित्तीय गतिविधि में Diversity लाने के लिए IDBI की सिफारिश की, वित्तीय क्षेत्र में सुधारों को जारी रखने के लिए IDBI ने एक विकास संस्थान से अपनी भूमिका को वाणिज्यिक संस्था में पुनः रूप दिया. औद्योगिक विकास बैंक अधिनियम 2003 के साथ IDBI ने सीमित कंपनी यानी, IDBI लिमिटेड की स्थिति प्राप्त की।

IDBI का मतलब इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट बैंक ऑफ इंडिया है. यह एक भारत सरकार के स्वामित्व वाली वित्तीय सेवा कंपनी है, जिसका मुख्यालय मुंबई में है. यह पहले भारतीय औद्योगिक विकास बैंक के नाम से जाना जाता था. यह भारतीय उद्योग के विकास के लिए ऋण और अन्य वित्तीय सुविधाएं प्रदान करने के लिए 1964 में स्थापित किया गया था. वर्तमान में, यह भारत के सबसे बड़े वाणिज्यिक बैंकों में से एक है जो व्यक्तिगत बैंकिंग और वित्तीय समाधान प्रदान करता है. पहुंच की अवधि में, यह दुनिया का 10 वां सबसे बड़ा बैंक है. इसमें 2912 एटीएम, 1602 शाखाएं और 1013 केंद्र (सिंगापुर और बीजिंग में 2 विदेशी केंद्र शामिल हैं) हैं. इसकी दृष्टि सभी हितधारकों के लिए अत्यधिक पसंदीदा और विश्वसनीय बैंक बढ़ाने वाला होना है. 9 अक्टूबर, 2017 तक, श्री महेश कुमार जैन IDBI के एमडी और सीईओ हैं।

IDBI बैंक केवल कोर बैंकिंग सेवाओं में काम नहीं करता है. इसके अलावा, यह अन्य वित्तीय सेवाओं जैसे बॉन्ड ट्रेडिंग, इक्विटी ब्रोकिंग और डिपॉजिटरी सेवाओं में भी काम करता है. IDBI को RBI (भारतीय रिजर्व बैंक) की सहायक कंपनी के रूप में स्थापित किया गया था. भारत सरकार फरवरी, 1976 में इसका स्वामित्व लेती है।

31 मार्च, 2013 को IDBI में 15465 कर्मचारी थे. वर्ष 2012-2013 के दौरान बैंक प्रति कर्मचारी 25.64 करोड़ रुपये का कारोबार करता है, और INR 12.17 लाख प्रति कर्मचारी का शुद्ध लाभ दर्ज करता है. 31 मार्च 2016 तक, इसमें रु। की बैलेंस शीट का आकार था. 3,74,372 करोड़ और कुल कारोबार रु। 4,81,613 करोड़ रु।

IDBI बैंक, जिसे पहले भारतीय औद्योगिक विकास बैंक (IDBI) के रूप में जाना जाता है, भारत में एक प्रमुख सार्वजनिक क्षेत्र का बैंक है। इसका मुख्यालय भारत के मुंबई में है, 7 मई 2008 को औद्योगिक विकास बैंक ऑफ इंडिया लिमिटेड का नाम बदलकर IDBI Bank Limited कर दिया गया, IDBI बैंक को हिंदी मे भारतीय औद्योगिक विकास बैंक कहते है. IDBI भारत सरकार की स्वामित्व वाली वित्तीय सेवा कंपनी है ।

IDBI Services in Hindi

यह बैंक आज के समय में कोर Banking के अलावा और भी बहुत सी सुविधा मुहैया कराता है. आपकी जानकारी के लिए बता दे की मसलन होम लोन, आटो लोन, पर्सनल लोन, एजुकेशन लोन तो यहां से लिया ही जा सकता है. यह होम लोन, एजुकेशनल लोन, पर्सनल लोन, ऑटो लोन जैसे विभिन्न प्रकार के ऋणों में भी काम करता है, इसके साथ ही प्रधानमंत्री सामाजिक सुरक्षा योजना, सुकन्या योजना के खाते तक यहां खोले जा सकते हैं. क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड, प्री-पेड कार्ड अपने ग्राहकों को मुहैया कराता है. रायल एकाउंट, Preferred account, पावर प्लस एकाउंट में डील करता है. इसके अलावा सेविंग्स एकाउंट, सुपर सेविंग्स एकाउंट, सुपर शक्ति (Womens) एकााउंट, जुबली प्लस (Senior citizens) एकाउंट में भी इसकी डीलिंग है. फ्लैक्सी करंट एकाउंट के साथ ही कारपोरेट पेरोल एकाउंट की सुविधा भी यह बैंक मुहैया कराता है. इसके तहत इंपीरियल सेलरी एकाउंट, स्टार सेलरी एकाउंट, प्राइम सेलरी एकाउंट, Pride salary account यह अपने कस्टमर की सुविधा और जरूरत के मुताबिक मुहैया कराता है. IDBI bank द्वारा दी जाने वाली अन्य Services Credit Card, फोन Banking, मोबाइल बैंकिंग, इंटरनेट Banking और सुकन्या समृद्धि योजना हैं।